IPL 2021: स्पॉन्सरशिप रेवेनुए से BCCI की कमाई दुगनी, आईपीएल टीमों की भी बल्ले बल्ले

IPL 2021: स्पॉन्सरशिप रेवेनुए से BCCI की कमाई दुगनी, आईपीएल टीमों की भी बल्ले बल्ले
IPL 2021: स्पॉन्सरशिप रेवेनुए से BCCI की कमाई दुगनी, आईपीएल टीमों की भी बल्ले बल्ले

IPL 2021: स्पॉन्सरशिप रेवेनुए से BCCI की कमाई दोगुनी, आईपीएल टीमों की भी बल्ले बल्ले: भारतीय क्रिकेट बोर्ड की नजर इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में स्पॉन्सरशिप रेवेनुए पर है. बोर्ड (BCCI) आईपीएल 2021 के जरिए पिछले वर्ष की तुलना में स्पॉन्सरशिप रेवेनुए से दोगुनी कमाई करेगा. आपको बता दें कि यूएई में खेले गए आईपीएल 2020 में सेंट्रल स्पॉन्सरशिप रेवेनुए में 50 प्रतिशत की गिरावट हुई थी, जो इस वर्ष दोगुनी होगी.

IPL 2021: आईपीएल 2021 से बीसीसीआई का स्पॉन्सरशिप रेवेनुए डबल

आईपीएल स्पॉन्सरशिप रेवेनुए बीसीसीआई के लिए इस वर्ष बढ़कर 708 करोड़ हो गया है. वहीं आईपीएल 2020 में रेवेनुए राशि 400 करोड़ रूपये कर दी गई थी. यानी बीसीसीआई इस वर्ष लगभग डबल कमाई करने जा रहा है.
वहीं बीसीसीआई ने आईपीएल 2021 में डिजिटल ब्रोकरेज फर्म Upstox को बतौर ऑफिशियल पार्टनर के रूप में जोड़ा है, वहीं पिछले साल आईपीएल में 3 ऑफिशियल पार्टनर थे जिसे इस वर्ष बढाकर 4 कर दिया गया था.

IPL 2020 – बीसीसीआई के लिए स्पॉन्सरशिप से कमाई – 400 करोड़

1 – टाइटल स्पांसर – ड्रीम 11 – 222 करोड़
3 – ऑफिशियल पार्टनर्स – टाटा मोटर्स / क्रेड / उनकेडेमी – 120 करोड़
1 – अंपायर स्पांसर – पेटीएम – 28 करोड़
1 – स्ट्रेटेजिक टाइमआउट पार्टनर – CEAT – 30 करोड़

यह भी पढ़ें- KKR के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के बाद शॉ की कथित GF ने लिखा- अवॉर्ड्स पैक करने के लिए सूटकेस चाहिए!

IPL 2021 – बीसीसीआई के लिए स्पॉन्सरशिप से कमाई – 708 करोड़

1- टाइटल स्पांसर – वीवो – 440 करोड़
5- ऑफिशियल पार्टनर्स – 210 करोड़
1 – अंपायर स्पांसर – 28 करोड़
1 – ऑफिसियल स्ट्रेटेजिक टाइमआउट पार्टनर – 30 करोड़

आईपीएल 2021: ना सिर्फ बीसीसीआई के लिए बल्कि आईपीएल 2021 में टीमों की कमाई में इजाफा होने जा रहा है. सेंट्रल स्पॉन्सरशिप में 90 से 100 प्रतिशत बढ़ौतरी का मतलब फ्रेंचाइज की कमाई में भी इजाफा है. कोंट्राक्टुअल टर्म्स के अंतर्गत सेंट्रल स्पॉन्सरशिप रेवेनुए का हिस्सा टीमों के खाते में भी जाता है. वहीं फ्रेंचाइजी की अपनी स्पॉन्सरशिप रेवेनुए में भी 25 से 30 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.