DC vs MI in IPL 2021: दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अगर जीतना है मैच तो मुंबई के ‘FAB-4’ को मचाना होगा तहलका

DC vs MI in IPL 2021: दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अगर जीतना है मैच तो मुंबई के 'FAB-4' को मचाना होगा तहलका
DC vs MI in IPL 2021: दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अगर जीतना है मैच तो मुंबई के 'FAB-4' को मचाना होगा तहलका

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अगर जीतना है मैच तो मुंबई के ‘FAB-4’ को मचाना होगा तहलका- आईपीएल में आज मुंबई इंडियंस(Mumbai Indians) का मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स से होने वाला है। चेन्नई में होने वाले इस मुकाबले में मुंबई की टीम जीतने की प्रबल दावेदार नजर आ रही है। दिल्ली के खिलाफ हुए पिछले 5 मुकाबले में मुंबई का ही पलड़ा भारी रहा है। लेकिन आज के मुकाबले में मुंबई इंडियंस के लिए एक बड़ी समस्या भी है।

ये भी पढ़ें- IPL 2021: स्टंप माइक में कैद हुए धोनी के मजेदार कमेंट्स, बोले- एक प्लेयर गायब हो जाता है हमेशा

इस सीजन मुंबई ने जो मुकाबले खेले हैं। उनमे टीम के 4 जांबाज खिलाड़ी रोहित शर्मा, क्विटंन डी कॉक, सुर्य कुमार यादव और हार्दिक पांड्या के प्रदर्शन में निरंतरता नहीं रही है। इसके बाद भी टीम ने अपने 3 मैचों में दो में जीत दर्ज की है। इसके पीछे टीम की शानदार गेंदबाजी रही है।

मुंबई इंडियंस की टीम चाहेगी की उनके बल्लेबाज इस मैच में अच्छी बल्लेबाजी करें। जिससे शानदार फॉर्म में चल रही दिल्ली कैपिटल्स को हराया जा सके।

मिल रहा है स्टार्ट लेकिन नहीं बन पा रहे बड़े स्कोर

इस सीजन रोहित शर्मा को अच्छी स्टार्ट मिल रही है। लेकिन वो इसे बड़े स्कोर में तब्दिल नहीं कर पा रहे हैं। वहीं, उनके सलामी जोरीदार क्विटंन डी कॉक की भी यही समस्या रही है। रोहित ने कोलकाता के खिलाफ 22 गेंद में शानदार 43 रन बनाए। वहीं, डी कॉक ने भी हैदराबाद के खिलाफ 40 रन बनाए थे। लेकिन सबसे बड़ी समस्या इस स्कोर को बड़े स्कोर में तब्दिल करना और निरंतरता की कमी है। रोहित शर्मा के बल्ले से तो काफी दिनों से कोई बड़ी पारी देखने को नहीं मिली है।

सुर्य कुमार यादव एकमात्र इन फॉर्म बल्लेबाज

सुर्य कुमार यादव मुंबई के टॉप ऑडर में एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिनके बल्ले से रन निकल रहे हैं। लेकिन अन्य बल्लेबाजों से सपोर्ट ना मिलने की वजह से उनपर प्रेशर आ जाता है। उन्होंने पहले मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 23 गेंद में 31 रन बनाए थे। वहीं, कोलकाता के खिलाफ अगले मैच में उन्होंने 36 गेंद में 56 रन ठोक दिए। लेकिन वो अगले मैच में इस शानदार फॉर्म को जारी नहीं रख पाए और 10 रन बनाकर आउट हो गए।

इशान किशन, किरोन पोलार्ड, हार्दिक पंड्या और उनके भाई क्रुनाल किसी भी मैच में अपनी बल्लेबाजी से मैच बदल सकते हैं। लेकिन अब तक इस सीजन के एक भी मैच में वो बल्ले से कमाल नहीं दिखा पाए हैं।

आखिरी गेम के बाद, रोहित ने स्वीकार किया कि उनकी टीम “बीच के ओवरों में थोड़ी बेहतर बल्लेबाजी कर सकती है।”

गेंदबाजी हो रही शानदार

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की अगुवाई में मुंबई के गेंदबाज पिछले दो मैचों में शानदार रहे हैं, उन्होंने क्रमशः 150 और 152 के कम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया है। स्ट्राइक गेंदबाज बुमराह (3 विकेट) और बोल्ट (6 विकेट) डेथ ओवर में शानदार रहे हैं।

लेग स्पिनर राहुल चाहर, जिन्हें गेंदबाजी कोच शेन बॉन्ड ने “विकेट लेने वाला गेंदबाज” कहा है। उन्होंने पिछले दो मैचों में सात विकेट हासिल किए हैं। वहीं, क्रुनाल पांड्या ने भी इस सीजन अच्छी गेंदबाजी की है।

मुंबई इंडियंस रॉयल चैलेंजर्स मुंबई से सिखना चाहेगी कि कैसे वो चेन्नई के मैदान पर बीच के ओवरों में शानदार बल्लेबाजी करते हैं।