IPL 2021: अपनी खराब फॉर्म पर आया Nicholas Pooran का रिएक्शन, कहा इसे याद रखूंगा और..

IPL 2021: अपनी खराब फॉर्म पर आया Nicholas Pooran का रिएक्शन, कहा इसे याद रखूंगा और..
IPL 2021: अपनी खराब फॉर्म पर आया Nicholas Pooran का रिएक्शन, कहा इसे याद रखूंगा और..

IPL 2021: अपनी खराब फॉर्म पर आया Nicholas Pooran का रिएक्शन, कहा इसे याद रखूंगा: वेस्ट इंडीज प्लेयर निकोलस पूरन अपनी धाकड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं, आईपीएल लीग में उन्होंने अपने दम पर कई मैच किंग्स 11 पंजाब (अब पंजाब किंग्स) को जिताए हैं, हालांकि आईपीएल 2021 उनके लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं रहा. 6 पारियों में निकोलस पूरन 4 बार शून्य पर पवेलियन लौट गए, इस कारण उनके और पंजाब किंग्स के फैंस द्वारा उन्हें खूब आलोचना झेलनी पड़ी. निकोलस पूरन के खराब प्रदर्शन को लेकर सोशल मीडिया पर भी उनका खूब मजाक बनाया गया. अब आईपीएल 2021 में अपने खराब प्रदर्शन को लेकर खुद निकोलस पूरन ने प्रतिक्रिया दी है. चलिए जानते हैं कि निकोलस पूरन ने क्या कहा

इस फोटो को याद रखूंगा, खुद को मोटीवेट करूंगा – निकोलस पूरन

आईपीएल 2021 में पंजाब किंग्स में शामिल निकोलस पूरन ने अपने सोशल मीडिया पर लिखा, आईपीएल 2021 टूर्नामेंट जिन कारणों से स्थगित हुआ है, वो दिल तोड़ने वाला है. लेकिन ये निर्णय जरुरी था. जल्द मिलते हैं आईपीएल. उन्होंने एक फोटो शेयर की, जो आईपीएल 2021 में उनके द्वारा खेली गई पारियों को दर्शा रही थी. इसके लिए निकोलस पूरन ने लिखा- वापसी से पहले, मैं इस फोटो को अपने दिमाग में रखूंगा, और शानदार वापसी के लिए फोटो से खुद को मोटीवेट करता रहूंगा. आप सभी सुरक्षित रहो.

7 मैचों में निकोलस पूरन का निराशाजनक प्रदर्शन

निकोलस पूरन ने आईपीएल 2021 में जैसी शुरुआत की थी, वैसा ही अंत भी. दरअसल वह अपने पहले मैच में शून्य और अंतिम (स्थगित होने पर) में भी शून्य पर पवेलियन लौटे. निकोलस पूरन ने 7 मैच खेले थे, इनमे वह 6 बार बल्लेबाजी करने उतरे. कुल 6 पारियों में निकोलस पूरन ने मात्र 28 रन बनाए, जबकि 4 बार तो वह अपना खाता तक नहीं खोल सके थे.

सितम्बर में हो सकते हैं आईपीएल 2021

अब देखना होगा कि, आईपीएल 2021 जब दोबारा शुरू होंगे तो निकोलस पूरन किस तरह वापसी करते हैं. बीसीसीआई सितम्बर में आईपीएल 2021 के बचे हुए मैचों को आयोजित कर सकता है. हालांकि बीसीसीआई भारत से बाहर इस सीजन को कराने पर विचार कर रहा है, क्योंकि विदेशी प्लेयर्स को संक्रमण के बीच भारत में लाना अब थोड़ा मुश्किल होगा.

Advertisement