Tokyo Olympics: COVID-19 के 10 नए मामलों आए सामने; WFI ने ओलंपिक शिविरों को किया बंद

Tokyo Olympics: COVID-19 के 10 नए मामलों आए सामने
Tokyo Olympics: COVID-19 के 10 नए मामलों आए सामने

Tokyo Olympics: कोविड-19 के 10 नए मामलों आए सामने; डब्ल्यूएफआई ने ओलंपिक शिविरों को किया बंद- राष्ट्रीय महिला कुश्ती शिविर में बुधवार को तीन महिला पहलवानों सहित 10 से अधिक लोगों को कोविड-19 परीक्षण में संक्रमित पाया गया है। जिसके परिणामस्वरुप रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (डब्ल्यूएफआई) ने सोनीपत और लखनऊ के भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) सेंटरों में चल रहे प्रशिक्षण केंद्रों को बंद करने का ऐलान किया है।

इनमें पहलवान पिंकी, गुरप्रीत और इंदु सहित एक फिजियो, एक नर्सिंग स्टाफ और पांच मेस स्टाफ शामिल हैं। जिसके बाद अधिकारियों ने मंगलवार को ही सोनीपत में हो रहे पुरुषों के राष्ट्रीय शिविर को भी बंद करने का फैसला किया।

एसएआई के कार्यकारी निदेशक, संजय सारस्वत ने बुधवार को कहा, “शिविर को मंगलवार से बंद कर दिया गया है, जैसे ही सोमवार को आयोजित किए गए उनके आरटी-पीसीआर परीक्षणों ने परिणामों का खुलासा किया।”

उन्होंने कहा, “एथलीटों को अपनी यात्रा रद्द करने के लिए कहा गया है और अब उन्हें क्वारंटाइन कर प्रोटोकॉल के अनुसार उनकी देखभाल की जाएगी।”

उन्होंने आगे कहा, “शिविर में 11 पहलवान थे, जब हमने मंगलवार को इसे बंद करने का फैसला किया। निगेटिव परीक्षण रिपोर्ट वाले लोगों को घर जाने की अनुमति दी गई है, जबकि बाकी को परिसर में वापस रहने के लिए कहा गया है।”

हालांकि, अगले महीने के ओलंपिक क्वालीफाइंग इवेंट के लिए भारतीय ताइक्वांडो टीम के चयन के लिए होने वाला तीन-दिवसीय ट्रायल, एसओपी के सख्त दिशानिर्देशों के तहत गुरुवार से यहां शुरू होगा।

टोक्यो ओलंपिक: भारतीय कुश्ती क्वालिफिकेशन का परिदृश्य

ओलंपिक तैयारी शिविर के लिए WFI ने हर एक भार वर्ग में टॉप चार प्रमुख पहलवानों का चयन किया है। जबकि पहलवानों के मुख्य समूह को अल्माटी में चल रही एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में भाग लेने भेजा जाएगा, वहीं शेष पहलवान सोनीपत और लखनऊ में प्रशिक्षण ले रहे हैं।

23 जुलाई से शुरू होने वाले टोक्यो ओलंपिक में पुरुषों की फ्रीस्टाइल में तीन पुरुष समेत छह भारतीय पहलवानों ने जगह बनाई है।

विनेश फोगट (53 किग्रा), अंशु मलिक (57 किग्रा) और सोनम मलिक (62 किग्रा) ने महिला वर्ग में क्वालीफाई किया है।

पुरुषों के वर्ग में, रवि दहिया (57 किग्रा), बजरंग पूनिया (65 किग्रा) और दीपक पूनिया (86 किग्रा) को ओलंपिक कोटा स्थान मिला है।