वर्ल्ड रेसलिंग ओलिंपिक क्वालीफायर: टोक्यो ओलिंपिक में क्वालीफाई करने का आखिरी मौका, इन पर रहेगी नजर

वर्ल्ड रेसलिंग ओलिंपिक क्वालीफायर: टोक्यो ओलिंपिक में क्वालीफाई करने का आखिरी मौका, इन पर रहेगी नजर
वर्ल्ड रेसलिंग ओलिंपिक क्वालीफायर: टोक्यो ओलिंपिक में क्वालीफाई करने का आखिरी मौका, इन पर रहेगी नजर

वर्ल्ड रेसलिंग ओलिंपिक क्वालीफायर: टोक्यो ओलिंपिक में क्वालीफाई करने का आखिरी मौका, इन पर रहेगी नजर: भारतीय पहलवानों के पास टोक्यो ओलिंपिक क्वालीफाई में रिकॉर्ड के साथ एंट्री लेने का अंतिम मौका है. टोक्यो ओलिंपिक के लिए बुल्गारिया के सोफिया में वर्ल्ड ओलिंपिक क्वालीफायर होगा, इसमें भारत के 3 डिवीजन से 12 पहलवान शामिल होंगे. आपको बता दें कि रिओ गेम्स में भारत के 8 पहलवानों ने क्वालीफाई किया था, जो अभी तक का सर्वाधिक है. वहीं टोक्यो ओलिंपिक गेम्स के लिए बुल्गारिया में क्वालीफाई मैच गुरुवार, 6 मई से शुरू होंगे. वर्ल्ड रेसलिंग ओलिंपिक क्वालीफायर ने 84 देशों के 474 एथलिट हिस्सा लेने बुल्गारिया पहुंचेंगे. वहीं भारत ने अबतक 6 वेट में क्वालीफाई किया है.

वर्ल्ड रेसलिंग ओलिंपिक क्वालीफायर्स

Freestyle / फ्रीस्टाइल

भारत ने अब तक 3 वेट डिवीजन में क्वालीफाई किया है, रवि दहिया (57 kg), बजरंग पुनिया (65 kg) और दीपक पुनिया (86 kg). द रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने Amit Dhankar, Satyawart kadian और Sumit Malik को क्रमश 74 kg, 97 kg और 125 kg डिवीजन में उतारा है.

सबकी निगाहें अमित धनकड़ पर टिकी रहेंगी. उनके सामने Tajmuraz Salkazanov होंगे, जिन्हे हराना अमित के लिए एक चुनौती होगी. आपको बता दें कि पिछले हफ्ते ही स्लोवाकियन के इस पहलवान ने यूरोपियन गोल्ड मैडल जीता था, उन्होंने 2 बार के विश्व विजेता, सिल्वर विजेता और अंडर 23 वर्ल्ड चैंपियन को हराकर ये खिताब जीता था.

Women’ Wrestling / महिला कुश्ती

फ्रीस्टाइल की तरह यहां भी 3 महिला पहलवानों ने अपनी जगह पक्की की है. विनेश फोगाट ने 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप के दौरान 53 kg में अपना स्थान पक्का किया था. वहीं अंशु और सोनम ने हाल ही में हुए एशियाई ओलिंपिक क्वालीफायर्स में क्रमश 57 kg और 62 kg केटेगरी में क्वालीफाई किया था. वहीं अब शेष तीन केटेगरी में सीमा बिस्ला (50kg), निशा दहिया (68kg) और पूजा (76kg) से उम्मीदें हैं कि वह टोक्यो ओलिंपिक में क्वालीफाई करेगी.

Greco Roman / ग्रीको रोमन

वहीं ग्रीको रोमन केटेगरी में भारत अभी भी खाली है, इसमें कोई प्लेयर क्वालीफाई नहीं कर पाया है. भारतीय ग्रीको पहलवानों को जगह बनाने के लिए टॉप 2 में जगह बनानी होगी. सबकी निगाहें सुनील कुमार (87) और गुरप्रीत (77 kg) पर होंगी, टोक्यो ओलिंपिक में जगह बनाने को लेकर इन दोनों से काफी उम्मीदें हैं.